बालक शब्द के रूप (Balak Shabd ke Roop) संस्कृत में हिन्दी व्याख्या सहित


प्रथमा कर्ता बालकः (सु) बालकौ (औ) बालकाः (जस्) – – (बालक ने) (दो बालकों ने) (बहुत बालकों ने) द्वितीया कर्म बालकम् (अम्) बालकौ (औट) बालकान् (शस्) – – (बालक को) (दो बालकों को) (बहुत बालकों को) तृतीया करण बालकेन (टा) बालकाभ्याम् (भ्याम्) बालकैः (भिस्) – – (बालक से) (दो बालकों से) (बहुत बालकों से) चतुर्थी सम्प्रदान बालकाय (ङे) बालकाभ्याम् (भ्याम्) बालकेभ्यः (भ्यस्) – (बालक को, के लिए) (दो बालकों को, के लिए) (बहुत बालकों को, के लिए) पञ्चमी अपादान बालकात् (ङसि) बालकाभ्याम् (भ्याम्) बालकेभ्यः (भ्यस्) – – (बालक से) (दो बालकों से) (बहुत बालकों से) षष्ठी सम्बन्ध बालकस्य (ङस्) बालकयोः (ओस्) बालकानाम् (आम्) – –   (बालक का) (दो बालकों का) (बहुत बालकों का) सप्तमी अधिकरण बालके (ङि) बालकयोः (ओस्) बालकेषु (सुप्) – –   (बालक में, पर) (दो बालकों में, पर) (बहुत बालकों में, पर) प्रथमा सम्बोधन हे बालक (सु) हे बालकौ (औ) हे बालकाः (जस्) – –   (हे एक बालक!) (हे दो लड़कों!) (हे बहुत से लड़कों!)



Source link